नाहन : गिरिपार क्षेत्र के हाटी समुदाय के एसटी मामले में दिन प्रतिदिन तुल पकड़ता जा रहा है। सतौन में हाटी कानून को लागू करने के लिए 24 घंटे के लिए अनशन पर बैठे 24 युवाओं को केंद्रीय हाटी समिति ने जूस पिलाकर अनशन को छुड़वाया। जिसके बाद सैकड़ों ग्रामीणों ने सतौन बाजार में रैली निकालकर सरकार के खिलाफ जोरदार नारेबाजी की। सतौन नवयुवक मंडल के अध्यक्ष तरूण शर्मा ने कहा कि अगर प्रदेश सरकार ने हाटी बिल को लागू नहीं किया तो क्षेत्र में उद्योग मंत्री हर्षवर्धन चौहान का घेराव कर काले झंडे दिखाए जायेंगे। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार ने हाटी समुदाय को एसटी का दर्जा दिया है लेकिन प्रदेश सरकार ने चार महीने बीतने के बाद भी हाटी बिल को लागू नहीं किया। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार हाटी बिल को लटकाने का काम कर रहे है। जिसे बर्दाश्त नहीं किया जायेगा।

केंद्रीय हाटी समिति के महासचिव कुंदन सिंह शास्त्री ने अनशन पर बैठे 24 युवाओं को जूस पिलाकर अनशन को खत्म करवाया जिसके बाद उन्होंने हाटी समुदाय के लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि केंद्र सरकार ने हाटी समुदाय को जनजातीय घोषित कर एसटी कानून का दर्जा दिया है। लेकिन दुख की बात है कि प्रदेश सरकार इसको लटकाने का काम कर रहे है। जिस कारण क्षेत्र के युवाओं को नुकसान हो रहा है। उन्होंने कहा कि क्षेत्र के युवाओं के सब्र का बांध टूटता जा रहा है तथा युवा सड़कों पर उतरकर सरकार के खिलाफ विरोध प्रदर्शन कर रहे है। उन्होंने प्रदेश सरकार से मांग की है कि जल्द ही हाटी कानून को लागू करें ताकि क्षेत्र के लोगों को इसका लाभ मिल सके अन्यथा अब युवाओं को रोकना मुश्किल हो रहा है। 

इस मौके पर बीडीसी अध्यक्ष सुनील ठाकुर,सतौन पंचायत के पूर्व प्रधान रजनीश चौहान, अतर सिंह नेगी, रणसिंह चौहान, ओपी चौहान, कर्नल नरेश चौहान, एडवोकेट दिनेश चौहान, गुमान चौहान, खजान सिंह नेगी, शिवानंद शर्मा, कुलदीप शर्मा, मदन तोमर, प्रेम चौहान, इन्द्र सिंह राणा, कुलदीप शर्मा, भरत राणा, प्रेम तोमर, शिवानी चौहान, सुमित्रा चौहान, रेणु नेगी, सुनिता चौहान, आशा चौहान, ओमलता, श्यामा देवी, सत्या चौहान आदि मौजूद थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here